अरुणाचल प्रदेश के Top 10 Tourist Places

1. Tawang


अरुणाचल प्रदेश के पश्चिम में स्थित तवांग जिला अपनी रहस्यमयी और अनोखी खूबसूरती के लिए  बहुत प्रसिद्ध है तवांग शहर समुद्र तल से लगभग 10 हजार फीट की ऊंचाई पर स्थित है पर्यटक यहाँ पर ख़ूबसूरत चोटियाँ, शानदार गोम्पा, शांत झीलों और इसके अलावा बहुत कुछ देख सकते हैं यहाँ पर मोनपा जाति के आदिवासी रहते हैं यह जाति मंगोलों से संबंधित है प्राकृतिक ख़ूबसूरती के अलावा पर्यटक यहाँ पर अनेक बौद्ध मठ भी देख सकते हैं यहाँ पर एशिया का सबसे बडा मठ तवांग मठ भी है तवांग के मोनपा लोग शिल्पकारिता में भी काफी दक्ष होते हैं यहाँ पर प्रमुख रूप से देखने लायक पर्यटक स्थलों मे निम्नलिखित शामिल है (1) तवांग मठ (2) Bap Teng Kang Waterfalls (3) जसवंत गढ़ (4) Nuranang Waterfalls (5) सेला दर्रा (6) Pankang Teng Tso Lake

2. Ziro


जाइरो एक छोटा सा हिल स्टेशन है जाइरो अपाटनी पठार के रूप में प्रसिद्ध है विश्व धरोहर स्थल के रूप में घोषित किया गया यह सुन्दर शहर समुद्र तल से 1500 मीटर की ऊँचाई पर स्थित है यहाँ के अपा टनी आदिवासी लोग प्रकृति को भगवान की तरह मानते है यहाँ पर प्रमुख रूप से देखने लायक पर्यटक स्थलों मे निम्नलिखित शामिल है (1) मेघना गुफा मंदिर (2) टिपी आर्किड अनुसंधान केंद्र (3) तरीन मछली फार्म (4) Hapoli (5) टैली घाटी वन्यजीव अभयारण्य (6) Midey

3. Roing


रोइंग निचली दिबांग घाटी में स्थित है रोइंग मनमोहक घाटियों और करामती पहाडि़यों वाला पर्यटन स्‍थल है बर्फ से ढकी चोटियां, बहती नदियां, खूबसूरत पहाडियां और यहां पाएं जाने वाले जानवर रोइंग के कुछ मुख्य आकर्षण है रोइंग में झीलें, घाटियां और वन्‍यजीव अभयारण्‍य भी है यहां के कुछ प्रमुख आकर्षणों में सैली और मेहाओ झील, मेहाओ वन्‍यजीव अभयारण्‍य हैं यह विशेषतोर पर उनलोगों के लिये खाश जगह है जो अकेले मे शांति मे कुछ समय बिताना चाहते है यहाँ पर प्रमुख रूप से देखने लायक पर्यटक स्थलों मे निम्नलिखित शामिल है (1) मेहाओ झील (2) नेहरू वन उद्यान (3) सैली झील (4) Mayudia (5) मेहाओ वन्‍यजीव अभयारण्‍य (6) Bhismaknagar Fort

4. Pasighat


पासीघाट, अरुणाचल प्रदेश का प्रवेश द्वार भी कहा जाता है यह  इस राज्य का सबसे पुराना शहर है यह शहर सियांग नदी के किनारे बसा हुआ है और यह समुन्द्र तल से लगभग 150 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है यहाँ के लोग त्योहार बड़े उत्साह के साथ मानते है मोपिन और सोलुंग यहाँ मनाए जाने वाले मुख्य त्योहार हैं यहाँ पर प्रमुख रूप से देखने लायक पर्यटक स्थलों मे निम्नलिखित शामिल है (1) डेइंग इरिंग वन्यजीव अभयारण्य (2) Kekar Monying (3) पनगिन

5. Itanagar


अरूणाचल प्रदेश की राजधानी ईटानगर बहुत ही शानदार जगह है यह शहर हिमालय की तराई में बसा हुआ है समुद्रतल से इसकी ऊंचाई लगभग 350 मीटर है ईटानगर में अनेक देखने लायक स्थान है जिनमें ईटानगर वन्यजीव अभयारण्य, शिल्प केंद्र और एम्पोरियम, गंगा झील, मुख्य हैं ईटानगर वन्यजीव अभयारण्य एक बहुत बड़ा अभयारण्य है जिसमें लंगूर, मृग, हिमालयी काले भालू सहित और भी कई प्रकार के जानवर है पोलो पार्क एक वनस्पति उद्यान है यहाँ पर प्रमुख रूप से देखने लायक पर्यटक स्थलों मे निम्नलिखित शामिल है (1) ईटानगर वन्यजीव अभयारण्य (2) गंगा झील (3) पोलो पार्क (4) इटा किला (5) जवाहरलाल नेहरू राजकीय संग्रहालय (6) शिल्प केंद्र और एम्पोरियम


6. Dirang


दिरांग कामेंग जिले का एक छोटा शहर है यह शहर लगभग 4900 फीट की ऊंचाई पर स्थित है इसके पास मे दिरांग नदी है दिरांग अनोखी वास्तुकला और बौद्ध प्रभाव के लिये पर्यटकों मे ज्यादा प्रसिद्ध है यहां एक दजोंग किला भी था लेकिन अब वह खंडहर बन चुका है यहां के गर्म पानी के कुंड दिरांग की प्राकृतिक सुंदरता में चार चाँद लगा देते है दिरांग घाटी देखने मे बहुत ही सुन्दर है यह स्थान प्रकृति प्रेमियों के लिए किसी जन्नत से कम नहीं है यहाँ प्रमुख रूप से देखने लायक पर्यटक स्थलों मे निम्नलिखित शामिल है (1) कालचक्र गोम्पा (2) दिरांग दजोंग (3) संगति घाटी (4) याक राष्ट्रीय अनुसंधान केंद्र (5) गर्म पानी के कुंड (6) संगती घाटी

7. Bomdila


बोमडिला समुद्र तल से 8000 फीट की ऊँचाई पर स्थित है बोमडिला हिमालय की पर्वत श्रृंखलाओं को निहारने के लिये अच्छी जगह है बोमडिला में यात्री स्थानीय तिब्बती व्यंजनों जैसे मोमोस तथा थूपा को खाने का लुफ्त उठा सकते हैं बोमडिला में घूमने के लिए शिल्प केंद्र, तीन बौद्ध मठ लोअर गोम्पा, मध्य गोम्पा और उच्च गोम्पा के अलावा सेसा आर्किड अभयारण्य, ईगलनेस्ट वन्यजीव अभयारण्य है यहाँ पर प्रमुख रूप से देखने लायक पर्यटक स्थलों मे निम्नलिखित शामिल है (1) बोमडिला व्यू प्वाइंट (2) सेसा ऑर्किड अभयारण्य (3) सेब के बाग (4) ईगलनेस्ट वन्यजीव अभयारण्य (5) शिल्प केंद्र और नृवंशविज्ञान संग्रहालय (6) टीपी ऑर्किडेरियम

8. Bhalukpong


भालुकपोंग शहर बोमडिला से लगभग 100 k.m. की दुरी पर है भालुकपोंग शहर कामेंग नदी के किनारे स्थित है इसलिये यह मछली पकड़ने और रिवर राफ्टिंग के लिये भी प्रसिद्ध हैं भालुकपोंग कई पहाड़ियों से घिरा हुआ है जो आपको ट्रेकिंग के लिये अपनी और आकर्षित करती है यहाँ पर प्रमुख रूप से देखने लायक पर्यटक स्थलों मे निम्नलिखित शामिल है (1) पखुई वन्यजीव अभयारण्य (2) बोमडिला (3) भालुकपोंग का किला (4) काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान (5) सेसा ऑर्किड अभयारण्य

9. Anini


अनिनी अरुणाचल प्रदेश राज्य में दिबांग घाटी जिले का मुख्यालय है अनिनी ऐसी जगह है जहां बादल भूमि को छूते हुए दिखाई देते है अनीनी मे शानदार मौसम और प्राकृतिक सुंदरता दिखाई देती है इडु मिश्मी आदिवासी लोग यहां अधिक संख्या मे निवास करते है यहाँ आपको आदिवासी लोगों के गांवो को घुमने मे एक अलग ही रोमांच का अनुभव होगा और यहाँ का वातावरण आपको सुकून और शांति का अनुभव कराएगा रोइंग जो निचली दिबांग घाटी में स्थित है वहा पर प्रमुख रूप से देखने लायक पर्यटक स्थलों मे निम्नलिखित शामिल है (1) मेहाओ झील (2) नेहरू वन उद्यान (3) सैली झील (4) Mayudia (5) मेहाओ वन्‍यजीव अभयारण्‍य (6) Bhismaknagar Fort

10. Aalo


Aalo ईटानगर से 297 किमी दूर स्थित सिपु और सियोम नदी के संगम पर एक सुंदर घाटी है Aalo पहाड़ियों और सुंदर नारंगी बागों से घिरा एक मनमोहन स्थान है यह पश्चिम सियांग जिले का मुख्यालय है सियोम हैंगिंग ब्रिज 70 मीटर लंबा बांस और बेंत से बना पुल है आप इस पुल के नीचे  राफ्टिंग का मजा भी ले सकते है यहाँ पर प्रमुख रूप से देखने लायक पर्यटक स्थलों मे निम्नलिखित शामिल है (1) रामकृष्ण मिशन परिसर (2) डोनी पोलो मंदिर (3) केन वन्यजीव अभयारण्य (4) काम्की हाइड्रोपावर बांध (5) बागरा गाँव


No comments:

Post a Comment

| Designed by ACS