Daily News Update

1. क्रिस्टीना ने अंतरिक्ष में गुजारा सबसे ज्यादा समय


अमेरिका  के नासा से पहली बार अंतरिक्ष में सबसे ज्यादा समय बिताने वाली महिला अंतरिक्षयात्री ने पुरुषों को पीछे छोड़ दिया है दरअसल नासा ने महिला अंतरिक्षयात्री को बीते मार्च को अंतरिक्ष अभियान के लिए चुना था जिसमें वो अब तक सबसे ज्यादा अंतरिक्ष में समय बिताने वाली पहली महिला एस्ट्रोनॉट का रिकोर्ड अपने नाम दर्ज कर रही है अमेरिका की क्रिस्टीना कोच को अब तक 328दिन हो चुके हैं। जिसके बारे में उन्होंने अंतरिक्ष में इन दिनों के अपने अनुभव को शेयर किया इसके साथ मे क्रिस्टीना कोच अपने नाम एक और नया रिकोर्ड बनाने जा रही है ऐसा पहली बार हो रहा है कि किसी महिला के द्वारा इतना ज्यादा समय अंतरिक्ष में बिताया गया हो दरअसलक्रिस्टीना कोच 14 मार्च को अंतरिक्ष में पहुंची थी। नासा  के द्वारा बताई गयी सूचना के अनुसार वो फरवरी 2020 तक धरती पर पहुँच जायेगी

2. मनुष्य के शरीर में धड़केगा 3D दिल

वैज्ञानिको के द्वारा रोज नित नयी खोजे की जा रही है इसी को आगे बढ़ाते हुवे Tel Aviv University के वैज्ञानिकों की एक टीम ने मनुष्य के Blood Sample और कोशिकाओं का उपयोग करते हुए विश्व का प्रथम 3D Printed दिल बनाने मे सफलता हासिल की है Reports के अनुसार, इस विशेष Project को  प्रोफेसर Tal Dvir ने Lead किया है उन्होंने Media को जानकारी देते हुवे बताया की ऐसा पहली बार हुआ है की जब 3D दिल बनाने के लिए किसी इंसान की कोशिकाओं और रक्त वाहिकाओं का इस्तेमाल किया गया है इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है कि वैज्ञानिको ने कोशिकाओं, रक्त वाहिकाओं और वेंट्रिकल के साथ सफलतापूर्वक इस कार्य को अंजाम दिया है इस 3D दिल की फोटो मुख्य तौर पर खरगोश के दिल जैसी दिखाई दे रही है प्रोफेसर Tal Dvir  ने जानकारी देते हुवे बताया की कि ये दिल संकुचन तो कर सकता है, लेकिन पूर्ण रुप से पम्पिंग करने में सक्षम नहीं है। वैज्ञानिकों का मानना है कि इस बात की भी संभावना है की  इस दिल को निकट भविष्य में मानवीय ट्रांसप्लांट के लिए भी इस्तेमाल किया जा सकता है


3. धरती की सतह का बढ़ रहा तापमान

नासा के अध्ययन के अनुसार धरती की सतह का तापमान बढ़ रहा है नासा के शोधकर्ताओं द्वारा उपग्रह के जरिए किया गया आंकलन इस बात की पुष्टि करता है पिछले 15 सालो में पृथ्वी की सतह गर्म हुई है अमेरिका में नासा के गोडार्ड स्पेस फ्लाइट सेंटर के जोएल सुसकिंड ने बताया की “एआईआरएस” डेटा ने “जीआईएसटीईएमपी” के लिए पूरक रहा क्योंकि जीआईएसटीईएमपी की तुलना में इसका दायरा ज्यादा रहा और इसने पूरी दुनिया को शामिल किया हैसुसकिंड ने जानकारी देते हुवे यह भी बताया की डेटा के दोनों सेट से यह पता चला कि धरती की सतह इस अवधि में गर्म हुई और 2016, 2017 और 2015 लगातार क्रम से सबसे गर्म साल रहें

4. समंदर में मिला ऐसा जीवाणु जो पीता है तेल

वैज्ञानिकों के द्वारा पृथ्वी के महासागरों के सबसे गहरे हिस्से Mariana Trench में तेल पीने वाले जीवाणु का पता लगाया गया हैइसके द्वारा पानी में फैले हुए तेल को स्थायी तरीके से हटाया जा सकता है Mariana Trench पश्चिमी प्रशांत महासागर में करीब 11,000 मीटर की गहराई पर स्थित है इस खोज के अध्ययन का नेतृत्व करने वाले  चीन के Ocean University के शियो हुआ झांग ने बताया की “हमें महासागर के सबसे गहरे हिस्से के बजाय मंगल ग्रह के बारे में अधिक पता है” ब्रिटेन के University of East Anglia के जोनाथन टोड ने बताया की ' हमारा दल Mariana Trench के सबसे गहरे हिस्से में लगभग 11,000 मीटर नीचे माइक्रोबियल जीवाणू के नमूने लेने गया हमने उनके द्वारा लाये गये नमूनों का अध्ययन किया और हाइड्रोकार्बन डिग्रेडिंग बैक्टीरिया के एक नए समूह का पता लगाया इसके साथ ही जोनाथन टोड ने यह भी बताया की ' हाइड्रोकार्बन कार्बनिक यौगिक हैं जो हाइड्रोजन और कार्बन परमाणु के बने होते हैं ये कच्चे तेल और प्राकृतिक गैस सहित कई स्थानों पर पाए जाते हैं  उन्होंने कहा,  इस तरह के सूक्ष्मजीव तेल में मौजूद यौगिकों को खा जाते है और फिर ईंधन के रूप में इसका इस्तेमाल करते हैं

No comments:

Post a Comment

| Designed by ACS